रविवार, अक्टूबर 2, 2022
होमCrimeहनुमानगढ़ : प्रेमी के साथ मिलकर पति की गला दबाकर हत्या

हनुमानगढ़ : प्रेमी के साथ मिलकर पति की गला दबाकर हत्या

- Advertisement -
- Advertisement -

युवक का शव फंदे पर झूलते मिलने के करीब 14 माह पुराने मामले में आया नया मोड
मृतक युवक की मां ने अपनी पुत्रवधू व उसके पुरुष मित्र के खिलाफ दर्ज करवाया मुकदमा

हनुमानगढ़। युवक का शव फांसी के फंदे पर झूलता मिलने के करीब 14 माह पुराने मामले में नया मोड आ गया है। मृतक युवक की मां ने अपनी ही पुत्रवधू व उसके पुरुष मित्र पर अवैध संबंधों के चलते हत्या कर शव फंदे पर लटकाने का आरोप लगाते हुए कोर्ट के जरिए रावतसर पुलिस थाना में मुकदमा दर्ज करवाया है। मृतक की मां के अनुसार उसकी बेटे की हत्या से दो-तीन दिन पहले ही उसकी पुत्रवधू ने घर से भागकर अपने पुरुष मित्र के साथ शादी कर ली थी। पुलिस हत्या के आरोप में मुकदमा दर्ज कर जांच में जुटी है।

इस्तगासे के आधार पर दर्ज हुए मुकदमे में गीता (60) पत्नी मिट्ठूराम वाल्मीकि निवासी 10 एसपीडी सरदारपुरा खालसा ने बताया कि उसके पति की मौत हो चुकी है। वह दिहाड़ी-मजदूरी कर अपना पालन-पोषण करती है। वह अपने पुत्र भागीरथ व पुत्रवधू सुमन के साथ परिवार का पालन-पोषण कर रही थी। उसकी पुत्रवधू सुमन के कुछ समय से प्रहलाद वाल्मीकि निवासी बड़बिराना तहसील नोहर के साथ अवैध संबंध थे। इसकी सूचना उसे व उसके पुत्र भागीरथ को लगी तो उन्होंने सुमन व प्रहलाद को रोका। लेकिन वे नहीं माने और धमकी दी कि अगर उन्होंने रोकने की कोशिश की तो वे उन्हें जान से मार देंगे।

तब उसने व उसके पुत्र ने गांव में पंचायती की तो सुमन व भागीरथ ने गलती मानते हुए कहा कि आइंदा इस प्रकार की गलती नहीं होगी। प्रहलाद ने कहा कि वह भविष्य में कभी उनके घर नहीं आएगा। बावजूद इसके प्रहलाद 10-15 दिन बाद उसकी पुत्रवधू सुमन से मिलने के लिए उनके घर आया। उसने सुमन व प्रहलाद को मिलने से रोका तो उन्होंने धमकी दी कि वे इसी तरह मिलते रहेंगे। गीता के अनुसार वह 1 जून 2021 को अपने पीहर रावतसर गई हुई थी। तब सुमन ने प्रहलाद के साथ भागकर शादी कर ली। भागीरथ ने विरोध किया तो इन्होंने जान से मारने की धमकी दी। इस घटना के दो दिन बाद उसे सूचना मिली कि प्रहलाद व सुमन ने रात्रि में घर में चारपाई पर सो रहे उसके पुत्र भागीरथ की गला दबाकर हत्या कर दी।

हत्या कर भागीरथ के गले में रस्सी डालकर मकान के अंदर गाडर पर रस्सी से शव लटका कर वहां से चले गए ताकि यह लगे की भागीरथ ने आत्महत्या की है। उसने ग्रामीणों की मदद से अपने पुत्र के शव का दाह संस्कार कर दिया। उसके बाद प्रहलाद व सुमन उसके घर आए और कहा कि यह घर हमारा है। वह यहां से चली जाए। साथ ही कहा कि उन्होंने ही उसके पुत्र भागीरथ को मौत के घाट उतारा था। अगर वह घर से नहीं गई तो उसका भी वही हाल करेंगे। तब उसने पंचायती की तो प्रहलाद व सुमन ने पंचायती में माफी मांगते हुए कहा कि उनसे गलती हो गई।

भविष्य में वे कभी उसके पास नहीं आएंगे। बावजूद इसके 20 जुलाई 2022 को प्रहलाद व सुमन उसके घर आए और फिर घर से चले जाने को कहा। तब उसे विश्वास हो गया कि प्रहलाद व सुमन ने अवैध संबंधों के चलते ही उसके पुत्र भागीरथ की हत्या की है। पुलिस ने हत्या के आरोप में मामला दर्ज किया है। मामले की जांच थाना प्रभारी रविन्द्रसिंह नरुका कर रहे हैं

खबरे और भी है...

RELATED ARTICLES

Most Popular